बाज़ार

राष्ट्रीय राजधानी में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों को मद्देनजर रखते हुए दिल्ली सरकार ने रविवार को 30 नवंबर तक सभी बाज़ार नांगलोई क्षेत्र , पंजाबी बस्ती और जन्नता मार्किट को बंद करने का आदेश दिया था क्योंकि देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना (Covid-19) के मामले तेजी से बढ रहे हैं इसी कारण क वजह से इन बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) न होने के कारण काफी लौग कोरोना से संक्रमित हो चुके है । इससे पहले 17 नवंबर को, दिल्ली सरकार ने चेतावनी दी थी कि अगर जरूरत पड़ी तो सुरक्षा प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ाने वाले बाज़ार कुछ दिनों के लिए बंद रहेंगे।


“मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 17 नवंबर को एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा था कि “जब से दिल्ली में मामले बढ़ रहे हैं, हम केंद्र सरकार को एक सामान्य प्रस्ताव भेज रहे हैं कि यदि आवश्यक हो, तो दिल्ली सरकार उन बाजारों को बंद कर सकती है, जहां कुछ दिनों तक मानदंडों का पालन नहीं किया जा रहा है, क्योंकि ये स्थान स्थानीय COVID-19 हॉटस्पॉट बन रहे हैं


बाजारों को बंद करने पर टिप्पणी करते हुए, डीडीएमए पश्चिम के अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट धर्मेंद्र कुमार ने एक आदेश में कहा, “यह पश्चिम जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के ध्यान में आया है कि दिल्ली सरकार द्वारा मास्क पहनने, सामाजिक बनाए रखने के संबंध में निर्देश जारी किए गए हैं। पंजाबी बस्ती और जनता बाजारों, नांगलोई में प्रवाहित की जा रही हैं। कुल मिलाकर सार्वजनिक हित में, इसके द्वारा 30 नवंबर, 2020 तक इन बाजारों को बंद करने का आदेश दिया गया है। “
स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में पिछले 24 घंटों में 6,746 नए कोविड ​​-19 मामले सामने आए हैं, जो राष्ट्रीय राजधानी में कुल मामलों की संख्या 5,29,863 है।
इस बीच मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने के बाद अस्पतालों में आईसीयू बेड (ICU Beds) बढ़ाने की तैयारी भी की जा रही है. लोगों से मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग रखने की अपील भी की जा रही है. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Health Minister Satyendra Jain) ने लोगों को मु्फ्त मास्क भी बांटे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *