भूमि पेडनेकर

अपने दमदार अभिनय के लिए जानने वाली मशहूर अभिनेत्री भूमि पेडनेकर अपने अगले बहुप्रतीक्षित ‘ दुर्गामती ‘ के साथ तैयार हैं। फिल्म सिनेमाघरों में रिलीज होना तय था लेकिन कोरोनावायरस महामारी को देखते हुए अब यह फिल्म डिजिटल प्लेटफार्म पर रिलीज़ होगी। ।भूमि को उम्मीद है कि देश के सभी शीर्ष फिल्म पुरस्कारों में डिजिटल पर रिलीज होने वाली फिल्मों को शामिल करने पर विचार किया जाएगा ।

भूमि पेडनेकर ने कहा है की जब हमने दुर्गामती बनाने की शुरुआत की थी तो हम चाहते थे कि सिनेमाघरों में दर्शकों का मनोरंजन करे।और अब महामारी के चलते हमें एक उद्योग के रूप में फिर से संगठित कर रहा है। फैक्ट यह है कि डिजिटल प्लेटफॉर्म फिल्म्स के लिए पहले से बन गए है ,अब ख़ास बात यह है कि हम सब आज के साथ रह रहे हैं जो आज है आज के दौर से सब डिजिटली ही हो रहा है।  अभिनेत्री ने अपनी पहले भी मेहनतपूर्वक काम करती हुई नजर आई है और अब  डिजिटल रिलीज डॉली और वोह चमकते सीतारे के साथ इंडस्ट्रीज और मीडिया से एक जैसे भारी प्रशंसा की और कहा  उन्हें दुर्गामती के दिल जीतने का भरोसा है।

“मेरी दो फिल्में जो मेरे दिल के बेहद करीब हैं, डिजिटल रिलीज हो गई हैं और एक अभिनेता के रूप में मैंने महसूस किया है कि ये प्रोजेक्ट दुनिया भर में दर्शकों तक पहुंच रहे हैं। वे कहती हैं, मैं भाग्यशाली हूं कि डॉली किट्टी और वोह चमकते सीतारे को आलोचकों और दर्शकों दोनों ने प्यार और सराहा और मैं उम्मीद कर रही हूं कि वे दुर्गावती को भी पसंद करेंगे।  अंतरराष्ट्रीय स्तर पर, दुनिया भर में सभी शीर्ष पुरस्कारों में डिजिटल रिलीज को शामिल करने के लिए एक बढ़ती प्रवृत्ति है ।

भूमि पेडनेकर कहती है कि ऐसे माहौल में हमारे देश के अवॉर्ड शो में डिजिटल पर रिलीज होने वाली फिल्मों को शामिल करना चाहिए। यह हमारे इंडस्ट्रीज  के लिए एक बड़ी बातचीत का सिफ्टर होगा और अभिनेताओं ने इन मेजिकल मूवी को बनाने में जो मेहनत की है, उसे स्वीकार करने के लिए एक आवश्यक कदम है  प्रेस्टीजियस  अवार्ड  शो  ने पाथ ब्रेकिंग डिजिटल कंटेंट को मान्यता देना शुरू कर दिया है और हमारे पास भारत में भी वही आदर्श होने चाहिए ।यह एक प्रगतिशील कदम होगा जिससे इंडस्ट्री को अधिक क्लटर -ब्रेकिंग  फिल्में बनाने में उसको  को पुश करने में भी लाभ होगा । 

  “दुर्गामती ऐसी ही एक फिल्म है जिसने मुझको जगाया है  इसने मुझे स्क्रिप्ट के स्तर पर ही जगाया है।मैंने अब फिल्म देखी है और मैं आपको आश्वस्त कर सकती हूँ  कि यह एक उच्च अवधारणा, कंटेंट फिल्म है जो हर किसी का चाहे वो आयु वर्ग के पार हो सबको अछि तरह से मनोरंजन करेगी। मैं हर किसी के लिए इंतजार नहीं कर सकती  इसे देखने के लिए! मैं जानती  हूं कि मेने शायद दुर्गामती के लिए सबसे मुश्किल काम किया है क्योंकि यह मुझे पूरी तरह से हर प्रोसेस के बीट पर यह मुझे प्यारी है।वह कहती हैं, इसने मुझसे अविश्वसनीय रचनात्मक संतुष्टि दी है और मुझे आशा है कि यह सफलता के लिए कदम पर चलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *