यूपी के प्रतापगढ़ में सड़क दुर्घटना में 14 बच्चों की मौत, पथरा गईं परिजनों की आंखें

उत्तरप्रदेश के प्रतापगढ़ में गुरुवार देर रात हाईवे पर एक ट्रक के पलट जाने से छह बच्चों सहित चौदह लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। दुर्घटना में एसयूवी के सभी कब्जेधारियों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए। देशराज इनारा गांव के पास प्रयागराज-लखनऊ राजमार्ग पर गुरुवार को लगभग 11.45 बजे दुर्घटना हुई।

प्रतापगढ़ के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अनुराग आर्य ने कहा कि जब एसयूवी ने उसे पीछे से रौंदा तो ट्रक पंक्चर टायर की वजह से हाईवे के किनारे खड़ा था। उन्होंने कहा कि कार के आधे हिस्से को पुलिस अधिकारियों ने बाद में ट्रक के नीचे से एक घायल अवस्था में बाहर निकाला।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि नवाबगंज में एक शादी में शिरकत करने के बाद सभी पीड़ित अपने गाँव कुंडा में अपने घर लौट रहे थे, उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवारों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया गया है।

दुर्घटना के तुरंत बाद पांच शव बरामद किए गए जबकि बाकी शवों को ट्रक के नीचे से कार निकालने के बाद बाहर निकाला गया। ट्रक के नीचे से कार को ठीक होने में लगभग दो घंटे लग गए।
कुंडा हादसे में बृहस्पतिवार रात जान गंवाने वाले छह बच्चों समेत 14 लोगों के शव शुक्रवार दोपहर बाद जिरगापुर गांव पहुंचे तो कोहराम मच गया। अपनों के शवों से लिपटकर घरवाले बिलखते रहे। हादसे में जान गंवाने वाले बच्चों का नाम लेकर घर की महिलाएं पुकारतीं रहीं। यह देख वहां मौजूद सभी की आंखें नम हो गईं।

गांव के अधिकतर लोग सिसकते रहे। शाम करीब चार बजे के करीब एक साथ 13 अर्थियां उठीं आंसुओं का सैलाब फूट पड़ा। अर्थियों के पीछे घर के लोग रोते हुए चले। मानिकपुर के करेंटी घाट पर शवों का अंतिम संस्कार किया गया। इससे पहले हादसे में मारे गए मासूम अंश का शव एंबुलेंस से ननिहाल जिरगापुर से उसके गांव हथिगवां भेजा गया।

Leave a Comment