उत्तर प्रदेश हाथरस में युवती से गैंगरेप , पीड़िता ने दिल्ली में तोडा दम।

1
3
PARICHAY TIMES

परिचय टाइम्स : उत्तर प्रदेश, उत्तर प्रदेश के हाथरस में गैंगरेप की घटना के बाद 20 साल की दलित युवती ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान पीड़िता कि मौत हो गई। दो हफ्ते पहले रैप और प्रताड़ना कि शिकार बानी युवती का ICU में इलाज चल रहा था। वह युवती पिछले दो हफ़्तों से मौत से जंग लड़ रही थी।

पीड़िता के परिवार का आरोप है कि उसके साथ 14 सितंबर को कथित रूप में उसके गांव में लगभग दो हफ्ते पहले चार पांच लोगो ने मिलकर उसका गैंगरेप किया था युवती कि हालत इतनी बुरी होगयी थी कि उसके शरीर में कई जगह फ्रेक्चर आए थे और उसकी जीभ भी काट दी थी। वो आपने परिवार के साथ दिल्ली के नजदीकी हाथरस गांव में अपने परिवार के साथ खेतों में घास काट रही थी उसी वक़्त आरोपियों ने युवती को उसके दुपट्टे से खींचकर दूसरी साइड खेतो में ले गए थे और वह अपनी माँ को बेहोशी के हालत में मिली थी।

परिजनों के मुताबिक युवती को पहले स्थानीय सनुदायिका केंद्र ले जाया गया था वह से उसको अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज रेफेर कर दिया गया था। उस जगह वह काम से काम 13 दिन तक वेंटिलेटर पर रही उसे सोम्बर को सफदरगंज अस्पताल लेके आए और उसने यह ही अपना दम तोड़ दिया

उसके भाई का कहना है कि उसके जीभ काट दी गई थी और उसकी रीढ़ कि हड्डी भी तोड़ दी गई थी। मामले की छानबीन के दौरान पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोप गांव के ही उच्चजाति लोगों पर है। हाथरस के ACP का कहना है कि चारों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चूका है। हम अदालत से जल्द से जल्द फ़ास्ट ट्रेक कि मांग करेंगे और युवती के परिवार वालो को सुरक्षा भी दी जाएंगी।

आपको बता दे कि युवती के भाई ने बीबीसी से बात करते हुए कहा है कि पहले शुरुआती में पुलिस ने इस मामले में कोई गंभीरता नहीं दिखाई थी और न ही 10दिन तक किसी आरोपी को गिरफ्तार किया था। पहले पुलिस ने बीएस हत्या का मुकदमा दर्ज किया था और एक ही अभियुक्त को नामित किया था। और उसने यह भी बताया ह कि घटना के बाद आरोपियों के तरफ से अंजाम भुगतने कि धमकी भी दी है इसी वजह से गांव में पीएसी तैनात कि गई है। उनके कहना है कि वह बहुत ज्यादा डरे हुए है।

1 COMMENT

  1. […] बता दे कि प्रशासन कि ओरसे कहा गया था कि हाथरस में कोरोना वायरस के चलते धारा१४४ लागु […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here